बेटियों को मिल रहे हैं 40 हजार रुपये, सुकन्या योजना

adsense 336x280
बेटियों को मिल रहे हैं 40 हजार रुपये,  सुकन्या योजना

यह योजना झारखंड के नागरिकों के लिये है। सरकार ने मुख्यमंत्री लक्ष्मी लाडली योजना के बदले मुख्यमंत्री सुकन्या योजना के संचालन का निर्णय लिया है। यह 24 जनवरी को शुरु होगी। समाज कल्याण विभाग के अनुसार सभी प्रमंडलों के एक-एक जिले पाकुड़, लातेहार, प.सिंहभूम, गुमला व कोडरमा में योजना को शुरु किया जायेगा। लांचिंग के साथ ही एक लाख बच्चियों को इसका लाभ देने का लक्ष्य बनाया गया है। 12 जनवरी तक 31265 आवेदन मिल चुके हैं। इस योजना के लिए अभिभावकों को जागरूक करने व उनसे आवेदन लेने की प्रक्रिया अभी भी चल रही है। सुकन्या योजना के द्वारा सामाजिक आर्थिक जातीय जनगणना (एसइसीसी)-2011 के आधार पर योग्य लाभुक परिवार जिनकी संख्या लगभग 27.46 लाख है तथा सभी अंत्योदय परिवार जिनकी संख्या 21 दिसंबर-2018 के आधार पर करीब 9.11 लाख है, की बालिकाओं के कल्याण के लिए आर्थिक मदद प्रदान की जायेगी। इसके साथ ही ऐसे परिवार जो बेघर, निराश्रित, भिक्षुक, सिर पर मैला ढोने वाले, आदिम जनजाति से संबद्ध या फिर कानूनी रूप से मुक्त कराये गये बंधुआ मजदूर हैं, ये भी लाभुकों की श्रेणी में शामिल होंगे।

आवश्यक शर्त- बच्ची की मां का नाम एसइसीसी में दर्ज होना चाहिए और वह अन्त्यौदय राशन कार्डधारी हो। जन्म के 2 साल तक 5 हजार की पहली किश्त बेटी की मां को मिलेगी। इस तरह धीरे-धीरे उसे किश्त मिलती जायेगी और अन्तिम किश्त 10 हजार रुपये उसके 18 वर्ष पूर्ण करने पर दी जायेगी। बेटी के बड़े होने के साथ-साथ उसे 40 हजार रुपये दिये जायेंगे। इस योजना का लाभ लेने के लिये आवेदक को आँगनबाड़ी केन्द्र सीडीपीओ कार्यालय या जिला समाज कल्याण पदाधिकारी कार्यालय से संपर्क करना होगा।
adsense 336x280

0 Response to "बेटियों को मिल रहे हैं 40 हजार रुपये, सुकन्या योजना "

Post a Comment